khatu-shyam-trust-kurukshetra

ॐ श्री श्याम देवाय: नम:

जय श्री श्याम, श्री खाटू श्याम परिवार ट्रस्ट रजि.कुरुक्षेत्र में आपका स्वागत है

श्री खाटू श्याम जी का नाम आज केवल भारत में ही नहीं अपितु दुनिया में फैले करोड़ों हिंदुस्तानी लोगों कि अटूट श्रद्धा और विश्वास का विषय है। अपने नाम के अनुरूप 'श्री खाटू श्याम जी' कलियुग के अवतार तथा अपने भक्तों की सम्पूर्ण मनोकामनाओ को पूर्ण करने वाले हैं।
श्री खाटू श्याम जी जिनको आज दुनिया 'हारे का सहारा', 'शीश का दानी' तथा 'कलियुग का अवतारी' आदि नामों से जानती है, उन्होंने अपने शीश का दान भगवान् श्री कृष्ण जी के कहने पर इसी कुरुक्षेत्र कि पावन भूमि पर दिया था। आज देश विदेश में इनके असंख्य भव्य मंदिर हैं लेकिन कुरुक्षेत्र जो विश्व में 'मंदिरों का शहर' नाम से प्रसिद्ध है, श्री श्याम प्रभु के भव्य मंदिर से वंचित है।
श्री खाटू श्याम परिवार ट्रस्ट रजि.कुरुक्षेत्र ने कुरुक्षेत्र में श्री खाटू श्याम जी के मंदिर का संकल्प लिया है। श्री खाटू श्याम जी अपने नाम के अनुरूप इस संसार में हारने वाले इंसान का साथ देते हैं। इनकी शरण में आने वाला व्यक्ति सभी प्रकार के दुःख व कष्टों से मुक्ति पाता है।
श्री खाटू श्याम परिवार ट्रस्ट रजि.कुरुक्षेत्र आप सभी भक्तों से श्री खाटू श्याम जी के मंदिर के निर्माण में सहयोग कि अपील करता हैं तथा श्री खाटू श्याम जी से प्रार्थना करता है कि वे आपके जीवन को सुखमय एवं ईश्वरोन्मुखी बनाए।
आप सभी भक्तों के सुझाव सादर आमंत्रित हैं, आपके सुझाव भविष्य में इस वेबसाइट को अधिक आकर्षक बनाने में सहयोगी बनेंगें।

ट्रस्ट के उद्देश्य

  • समाज में जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए तैयार रहने वाले लोगों को एक परिवार के रूप में इकट्ठा करना ।
  • श्री खाटू श्याम जी की कथानुसार समाज में हारने वाले व्यक्ति का साथ देना ।
  • श्री खाटू श्याम जी कि कुरुक्षेत्र भूमि पर एक विशाल मन्दिर बनवाने के लिए प्रयास करना ।
  • लोगों में श्री खाटू श्याम जी के प्रचार हेतु मासिक बस यात्रा, नि: शुल्क कीर्तन व विशाल वार्षिक जागरण करवाना ।
  • समाज कि भलाई हेतु फ्री मेडिकल कैंप, रक्तदान शिविर व जरूरतमंद परिवारों की भलाई के लिए निरन्तर प्रयासरत रहना ।

ॐ Shri Shyam Devay Namah

Welcome to Shri Khatu Shyam Parivar Trust, Reg. Kurukshetra

Shri Khatu Shyam ji's name today is a subject of unwavering faith and trust of people not only in India but millions across the world, As His name, 'Shri Khatu Shyam Ji' avtar of Kaliyuga trues the wishes of His followers.
Shri Khatu Shyam Ji who is now known as 'Supporter of the defeted', 'Donor of Head' and 'Avtar of Kaliyuga' etc, donated his head as asked by Lord Krishna at holy place of Kurukshetra. As of date there are uncountable temples of Shri Khatu Shyam Ji, but Kurukshetra, which is known as 'City of Temples' in the world has been denied of His grand temple.
Shri Khatu Shyam Parivar Trust, Reg. Kurukshetra has pledged to build his temple in Kurukshetra. As His name, 'Shri Khatu Shyam Ji' supports the defeated. All people who come in His shelter finds salvation from sorrows and sufferings of all kinds.
Shri Khatu Shyam Parivar Trust, Reg. Kurukshetra appeals all for their collaboration to build His temple and wishes that He enriches your life.
All devotees are invited to suggest us. Your suggestions will help us to make this website more attractive in the future.

The objectives of the Trust

  • To gather people ready to assist the needy people in society as a family.
  • According to Shri Khatu Shyam Ji's Katha, to support the losers in society.
  • To strive for the creation of Shri Khatu Shyam ji's Grand Temple on the land of Kurukshetra.
  • Conducting Monthly Bus Yatra, Free Kirtan and Vishal Varshik Jagran for preaching Shri Khatu Shyam Ji among people.
  • For the betterment of society constantly striving for free medical camps, blood donation camps and the welfare of needy families.